Rajasthan Annual Exam 2020-21 Rules And Guidelines

Spread the love

हैलो दोस्तों, हमारी टीम आपके लिए हमेशा ही कुछ अच्छा लेकर आती हैं | इसी कड़ी में आज के इस आर्टिकल में हम राजस्थान राज्य में सत्र 2020 – 2021 में वार्षिक परीक्षा के मूल्याङ्कन (annual exam 2020-21) के बारे में चर्चा करेंगे | दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं कि भारत ही क्या आज दुनिया का लगभग हर देश Covid – 19 महामारी से जूझ रहा हैं | ऐसे में सबसे ज्यादा चुनौती का सामना विद्यालयों को शुरू करने में किया जा रहा हैं | ऐसा इसलिए कि यहाँ पर छोटे बच्चें भी होते हैं, जिस कारण Social डिस्टेंस बना पाना बड़ा मुश्किल कार्य हैं | सरकार इसी के साथ ये भी नहीं चाहती कि इस सत्र को जीरो घोषित कर दिया जाये |

इन सभी के चलते कक्षोन्नति नियमो में कुछ बदलाव किये गए हैं, जिनके आधार पर बच्चों को अगली कक्षा में किया जायेगा | इस हेतु शिक्षा विभाग राजस्थान के द्वारा दिनांक 08.12.2020 को आदेश जारी कर दिया गया हैं | अब कुछ इस प्रकार से बच्चों को अगली कक्षा में भेजा जाएगा –

कक्षा 9 से 12 के लिए आंकलन / मूल्याङ्कन / कक्षोन्नति हेतु नियम :-

  • दिनांक से अभिभावकों की सहमति के आधार पर बच्चों को विद्यालय बुलाया जा सकता हैं |
  • अभी जिज्ञासा समाधान तथा मार्गदर्शन के लिए आने वाले विद्यार्थियों को एक साथ एक सप्ताह का गृहकार्य भी दिया जायेगा |
  • प्रदान किया गृहकार्य विद्यार्थी अलग – अलग विषय का अलग – अलग नोटबुक में संधारित करेगा | जिसे सप्ताह में एक बार विषयाध्यापक द्वारा जांचा जाएगा |
  • विषयाध्यापक मार्गदर्शन के अलावा गृहकार्य भी आवश्यक रूप से देगा, ताकि विद्यार्थी सक्रिय रह सकें |
  • कक्षा 9 से 12 तक सभी कक्षाओं का सिलेबस कम कर दिया गया हैं | वार्षिक परीक्षा इसी संशोधित पाठ्यक्रम के आधार पर होगी |
  • कक्षोन्नति का आधार वार्षिक परीक्षा (annual exam 2020-21) को ही माना गया हैं |
  • इसके लिए 20 % अंक आतंरिक मूल्याङ्कन के निर्धारित किये गए हैं | साथ ही 80 % अंक लिखित परीक्षा के लिए निर्धारित किये गए हैं | (प्रायोगिक विषयों के अतिरिक्त यह व्यवस्था लागु रहेगी)
  • आंतरिक मूल्यांकन के लिए निर्धारित 20 % अंक का आधार विद्यार्थी द्वारा संधारित की गयी गृहकार्य पुस्तिका होगी | जो परीक्षा से पूर्व विद्यालय में जमा करवानी आवश्यक होंगी |
  • कक्षा 11 एवं 12 के वो विषय जिनमे प्रायोगिक कार्य हैं | उनमें 20 % अंक प्रायोगिक कार्य के अतिरिक्त लिखित परीक्षा में दिए जायेंगे |
  • उदाहरण के तौर पर जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, भूगोल आदि में 14 अंक आतंरिक मूल्याङ्कन के होंगे | चित्रकला तथा संगीत विषय में 6 अंक आतंरिक मूल्यांकन के होंगे |

कक्षा 11 – 12 में प्रायोगिक विषयों के लिए परीक्षा प्रावधान :-

  • कक्षा 11 एवं 12 के विद्यार्थी समाधान के लिए जब विद्यालय आएंगे, तब लैब की क्षमता के आधार पर एक बार में एक प्रयोग का अभ्यास करेंगे | ताकि प्रायोगिक कार्य की तैयारी की जा सकें |
  • शाला प्रधान कुछ इस तरह से व्यवस्था करेंगे की जिज्ञासा समाधान के लिए आने वाले प्रत्येक विद्यार्थी को सप्ताह में एक बार प्रायोगिक कार्य करने का अवसर मिल सकें |
  • शाला प्रधान यह भी ध्यान में रखें कि एक बार में प्रयोगशाला में कुल क्षमता का 50 % से अधिक विद्यार्थी नहीं हो | जिससे Covid – 19 की गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित हो सकें |
  • विद्यार्थी को एक प्रयोग के लिए कुल 2 घण्टे का समय प्रदान किया जायेगा | इसी के साथ एक विद्यार्थी को निर्धारित पाठ्यक्रम से कुल 10 प्रयोग करवाए जायेंगे |
  • विद्यार्थियों द्वारा किये गए प्रायोगिक कार्य की एक पुस्तिका का संधारण जायेगा |
  • विषयवार चयनित 10 प्रायोगिक कार्य अंतिम मूल्यांकन कार्य का आधार होगा | इसलिए इन 10 प्रायोगिक कार्य की ही तैयारी करवाई जाये |
  • इस बार प्रायोगिक परीक्षा का आयोजन मूख्य परीक्षा के पश्चात किया जाना प्रस्तावित हैं |
  • प्रायोगिक परीक्षा बोर्ड द्वारा निर्धारित अंको के लिए होगी | जो विषय वार अलग – अलग हो सकती हैं |
  • अंतिम प्रायोगिक परीक्षा में से 50 % अंक आप द्वारा संधारित प्रायोगिक कार्यपुस्तिका के होंगे | इसी के साथ शेष 50 % अंक अंतिम प्रायोगिक परीक्षा के अनुसार होंगे |
  • ग़ैर सरकारी विद्यालयों में भी नियम राजकीय विद्यालयों के अनुरूप ही होंगे |

प्रश्न पत्र का पैटर्न :-

  • वर्तमान सत्र 2020 – 21 (annual exam 2020-21) में प्रश्न – पत्र में बहुचयनात्मक प्रश्नो को भी शामिल किया जायेगा |
  • अन्य प्रश्नो जैसे अतिलघुत्तरात्मक, निबंधात्मक आदि में भी चयन विकल्प दिया जायेगा, यानि अथवा में प्रश्न दिए जायेंगे |
  • निबंधात्मक प्रश्नो की कुल संख्या भी कम कर दी गई |
  • भाषा आधारित विषयों में पठित व अपठित गद्यांश आधारित प्रश्न पर्याप्त विकल्प के साथ दिए जायेंगे |
  • विद्यार्थियों को मॉडल प्रश्न पत्र 15 जनवरी के पश्चात उपलब्ध करवा दिए जायेंगे |

6 से 8 कक्षा के लिए आंकलन / मूल्याङ्कन / कक्षोन्नति हेतु नियम :-

  • सत्र 2020 – 21 में स्माइल 2.0 कार्यक्रम के तहत “आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के अंतर्गत निरंतर अध्ययन करवाया जा रहा हैं | यदि आप स्माइल 2 कार्यक्रम के बारे में जानना चाहते हैं, तो आगे दिए गए लिंक पर क्लिक करे – Click Here
  • इन कक्षाओं को फ़रवरी 2021 में गतिविधि आधारित कार्य – पुस्तिकाओं उपलब्ध करवाया जायेगा |
  • वार्षिक परीक्षा (annual exam 2020-21) संशोधित पाठ्यक्रम के आधार पर आयोजित की जाएगी |
  • 40 % अंक आंतरिक मूल्यांकन के होंगे | जिसमे कार्यपुस्तिका, पोर्टफोलियो, गृहकार्य शामिल किये जायेंगे |
  • वार्षिक परीक्षा 60 % अंको की होगी | इस 60 % में से 10% अंक मौखिक परीक्षा तथा 50 % अंक लिखित परीक्षा के होंगे |
  • कक्षा 8 के विद्यार्थियों के लिए बोर्ड परीक्षा का आयोजन किया जायेगा |
  • प्रश्न पत्र का पैटर्न 9 से 12 के समान होगा |

Go to My Other Portal :- Click Here

Download Education Department Order :- Click Here

Leave a Comment

error: Content is protected !!