Prime Minister Housing Scheme (PMAY) Urban Complete Information

Spread the love

Prime Minister Housing Scheme (PMAY) Urban Complete Information :

दोस्तों बचपन से ही एक बात परिवार के पास सुनी थी । आखिर कब तक किराए के घर में रहेंगे और ऐसे ही किराया देते रहेंगे । जब यहीं रहना हैं तो क्यों न स्वयं का घर ले ले । मेरी नजर में प्रत्येक इंसान का एक सपना होता है – घर ।

Click here to read this article in English – Click Here

प्रत्येक इंसान यह चाहता है कि उसका स्वयं का एक घर हो । साथ में एक गाड़ी हो । आज मै आपको एक ऐसी ही स्कीम योजना के बारे में कुछ जरुरी पहलु बताने वाला हूँ जिससे आपका घर बनाने का सपना कुछ आसान हो सके । आज की इस पोस्ट में अपने प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में चर्चा करेंगे ।

सबसे पहले इस योजना की पात्रता शर्तो के बारे में चर्चा कर लेते हैं ।

प्रथम शर्त : –

आवेदक की आयु 21 वर्ष से 55 वर्ष तक होनी चाहिए । अर्थात यदि आप 21 वर्ष से छोटे है या 55 वर्ष से अधिक के है । तो इस योजना के लिए पात्र नहीं है ।

द्वितीय शर्त :-

आपके पास पहले से पक्का घर नहीं होना चाहिए । यानि पति / पत्नी व 18 वर्ष से छोटे बच्चों के नाम पहले से कोई घर नहीं होना चाहिए । यहाँ मै आपको बता दू कि आप नया घर बनवा भी सकते है, खरीद भी सकते है । अपने पुराने घर को बड़ा भी कर सकते है । यानि आप 3BHK से 4BHK कर सकते है । प्रथम मंजिल पर दुसरी मंजिल भी बनवा सकते हैं । इन सभी के दौरान आप इस स्कीम का लाभ ले सकते हैं ।

तृतीय शर्त :-

यह योजना सैलरीड, बिजनेस मेन, प्रोफेशनल तीनो केटेगरी के लोगो के लिए हैं ।

चतुर्थ शर्त :-

आप लोन न्यूनतम 20 वर्ष के लिए ले सकते हैं, यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है ।

पंचम शर्त :-

यहाँ आपके लिए लोन की कोई अधिकतम सीमा नहीं हैं, सीमा केवल सब्सिडी की हैं । चाहे आप लोन 15 लाख का ले या 1 करोड़ का ले । इसका सब्सिडी से कोई मतलब नहीं हैं । सब्सिडी आपको मिलेगी ही मिलेगी । लेकिन अधिकतम सब्सिडी आपको कितनी मिलेगी यह अलग – अलग केटेगरी के अनुसार बांटा गया हैं । सब्सिडी की अधिकतम राशि 2,67,280 रुपए हो सकती हैं ।

षष्ठम शर्त :-

लोन लेने के लिए आपकी न्यूनतम सीमा क्या हो, यानि आप न्यूनतम कितना लोन ले कि आप इस योजना का लाभ ले सके ।
इसके लिए में आपको बता दू कि यहाँ सभी को कुल चार श्रेणियों में बांटा गया हैं ।

PMAY स्कीम के बारे में पूर्ण जानकारी के लिए विडियो देखे :-

चलिए अपने इन चारों श्रेणियों के बारे में चर्चा कर लेते हैं –

EWS (Economically Weaker Section) :-

ये वो केटेगरी हैं जिसमे आपकी पारिवारिक आय 3 लाख से कम होनी चाहिए । यदि आप इस केटेगरी में आते हैं तो आपको क्या – क्या लाभ हैं । आपको होम लोन पर 6.5 % की ब्याज सब्सिडी मिलेगी ।

चाहे आप होम लोन 8% पर ले या 8.30 प्रतिशत पर ले या 9% पर ले l मान लो जैसे आपने होम लोन 8% कर लिया है तो 6.5% तो यहां आपको ब्याज सब्सिडी मिलेगी l यहां आपको यह होम लोन कुल 1.5% ब्याज दर पर ही उपलब्ध हो जाएगा l क्योंकि सरकार की ब्याज पर सब्सिडी भी यहां रहती है l लेकिन इसकी भी अपनी ही शर्ते हैं l

यहाँ पहली शर्त है, कि आपको यह सब्सिडी 6,00,000 ₹ तक की लोन राशि पर ही मिलेगी l मान लो कि आप ₹10,00,000 का लोन 8 % पर लेते हैं l तब 6,00,000 तक आपको 6.5 % ब्याज सब्सिडी मिल जाएगी l यहां आपको 1.5 % ही ब्याज देना होगा l साथ ही शेष रही राशि पर आपको बैंक द्वारा जिस रेट पर ब्याज लिया गया है, वही रेट प्रभावी रहेगी, यानि 8 % l इसमें अधिकतम सब्सिडी ₹2,67,280 हो सकती है l

लेकिन इस केटेगरी के लिए आपका अधिकतम कारपेट एरिया 30 स्क्वायर मीटर तक ही होना चाहिए l यदि आप इससे बड़ा घर लेते हैं तो आप इस योजना के लिए योग्य नहीं होंगे l

दोस्तों यहां मैं आपको एक बात और बता दूं कि आप यदि ईडब्ल्यूएस केटेगरी में है तथा यदि आप ₹600000 का लोन लेते हैं आपका लोन 20 साल तक ही होगा l यदि आप इससे अधिक राशि का लोन लेते हैं तो आप लोन 30 साल भी ले सकते हैं तथा आप इस योजना के लिए एप्लीकेबल होंगे l

LIG (Lower Income Group) :-

यह कैटेगरी उन लोगों के लिए है, जिनकी पारिवारिक आय ₹ 3,00,001 से लेकर ₹ 6,00,000 सालाना तक है l यदि आप इस केटेगरी में आते हैं तो भी आपको सरकार 6.5 % ब्याज सब्सिडी देगी l यानि आपका 6.5 % ब्याज सेविंग रहेगा l यहाँ भी आपका न्यूनतम लोन 600000 होना आवश्यक है l अधिकतम की कोई सीमा नहीं है l

यहाँ आपका घर का आकर थोड़ा सा बढ़ जाता है l आप यहाँ कुल 60 स्क्वायर मीटर तक का घर ले सकते हैं l यानि आप यदि इससे बड़ा घर लेते है और आपकी आय 6 लाख से कम है, तो आप इस योजना के लिए पात्र नहीं होंगे l

NOTE :-

EWS व LIG दोनों ही केटेगरी के लिए Owner या Co – Owner Female का होना आवश्यक हैं l यदि ऐसा नहीं है तो आप सब्सिडी के लिए पात्र नहीं हैं l

MIG 1 (Middle Income Group 1) :-

यह केटेगरी उन लोगो के लिए है, जिनकी घरेलु सालाना आय 6 लाख एक रुपए से 12 लाख रुपए तक हैं l यदि आप इस केटेगरी में आते हैं तो आप काफी बड़ा घर ले सकते हैं l लेकिन इसकी भी अपनी ही शर्ते हैं l यहाँ आपको सब्सिडी 9 लाख की लोन राशि पर ही मिलेगी l यह भी केवल 4 % ब्याज बचत पर प्रभावी होगी l

यहाँ भी आप अधिकतम लोन कितना भी ले सकते है l लेकिन न्यूनतम लोन राशि का 9 लाख होना आवश्यक हैं l उदाहरण के तौर पर यदि आप 20 लाख का लोन 8 % की दर पर लेते है l यहाँ पर आपको 9 लाख पर तो 5 % ब्याज देना होगा l शेष राशि 11 लाख पर आपको 8 % ब्याज चुकाना होगा l

इस केटेगरी में आपका कारपेट एरिया 160 स्क्वायर मीटर तक होना चाहिए l इसमें आपकी सब्सिडी घटकर लगभग 2,35,000 तक हो जाती हैं l

MIG 2 (Middle Income Group 2) :-

यह केटेगरी उन लोगो के लिए है, जिनकी घरेलु सालाना आय 12 लाख एक रुपए से 18 लाख रुपए तक हैं l इस केटेगरी में आप 200 स्क्वायर मीटर तक का घर ले सकते हैं l यहाँ भी आप अधिकतम लोन कितना भी ले सकते है l लेकिन न्यूनतम लोन राशि का 12 लाख होना आवश्यक हैं l यहाँ आपको सब्सिडी 12 लाख की लोन राशि पर ही मिलेगी l यह भी केवल 3 % ब्याज बचत पर प्रभावी होगी l यहाँ पर सब्सिडी की राशि लगभग 2,30,000 रुपए रह जाती है l

NOTE :-

यदि दोस्तों आपको लगता हैं कि आप PMAY योजना के लिए पात्र हैं और आपको लोन नहीं मिल रहा हैं बैंक के द्वारा l ऐसी स्थिति के लिए भारत सरकार के द्वारा टोल फ्री नंबर जारी किया गया हैं l जिस पर आप शिकायत दर्ज कर सकते है l यहाँ पर आपकी शिकायत का जल्द ही निवारण कर दिया जायेगा l यह नंबर रहेगा 1800-11-3377

फिलहाल यह योजना 31.03.2020 तक हैं l

PMAY सब्सिडी स्टेटस कैसे चेक करें जानने के लिए विडियो देखें :-

Full User Manual Download : Click Here

Go to PMAY Portal : Click Here

Leave a Comment

error: Content is protected !!